Posts

Showing posts from March, 2021

COACHING

Image
  Coaching profession मेरे कई कोचिंग क्लाइंट खुद कोच हैं, और उनमें से कुछ ने मुझसे पूछा है कि ऑनलाइन अपने कोचिंग व्यवसाय को कैसे बढ़ावा दिया जाए।  यहाँ कुछ जानकारी मैंने उनके साथ साझा की है।  ऑनलाइन अपने स्वयं के कोचिंग अभ्यास को बढ़ावा देने, अधिक ग्राहक प्राप्त करने और अधिक पैसा कमाने के लिए इन युक्तियों और विचारों का उपयोग करें:  - एक पेशेवर वेब साइट है।  ऑनलाइन ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए, आपको ऑनलाइन एक बहुत ही पेशेवर छवि प्रस्तुत करने की आवश्यकता है।  जो लोग आपकी वेब साइट को ढूंढते हैं, वे वेब साइट के पेशेवर लुक और फील को आपके खुद के प्रोफेशनलिज्म की बराबरी करेंगे, क्योंकि वेब साइट केवल जानकारी का एक टुकड़ा है जो उन्हें आपके व्यवसाय का मूल्यांकन करना है। वेब साइट पर आपके व्यवसाय और सेवाओं के साथ-साथ आपके उत्पादों और सेवाओं के बारे में पेशेवर रूप और जानकारी होनी चाहिए।  ग्राहकों के लिए आपसे संपर्क करने का एक तरीका होना चाहिए, साथ ही साथ अपने न्यूज़लेटर की सदस्यता लें।  - समझाएँ कि आप अपनी वेब साइट पर क्या करते हैं।  हर कोई नहीं जानता कि एक कोच क्या है, इसलिए अपने आप को कोच कहने

KARO YOGRAHO NIROG

Image
आजादी के अमरत महोत्सव के अवसर पर योग को परोतसाहित करते हुये। केद सर्कार ने योग 2022 नामक 100 दिवसिय अभीयान परारभ किया है। जिसका समापन 21 जून 2022 को अनतररासटिय योग महोत्सव के साथ होगा। योग क्या है और यह बीमारियों से कैसे बचाता है / करे योग रहे निरोग दोस्तों एक बहुत बढ़िया कहावत आपने सुनी होगी कि जब “ तन अच्छा तो मन अच्छा ”। मतलब जब आपका तन अच्छा होगा तभी आपका मन भी अच्छा रहेगा। एक कहावत और दोस्तों बहुत मशहूर है कि “स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क का निवास होता है। आइए जानते है कि Yoga kese improves strenght ‘balance’ flexibility’ backpain’ hearthealth ‘relexfor sound sleep ‘more energy brightermood’ man age में योगा कैसे मदद कर सकता है l यह सब तो ठीक है अब आपके मन में यह ख्याल आ रहा होगा कि आज हम यह बात क्यों कर रहे हैं , हम सब ने इस दुनिया को बहुत कुछ दिया है चाहे वह ज्ञान हो या शिक्षा या फिर चिकित्सा के क्षेत्र में आयुर्वेद ।आज के इस आधुनिक युग में और भागती दौड़ती इस जिंदगी में हमने दुनिया को योग सिखाया है। जिसको ना सिर्फ पूरी दुनिया ने अपनाया है और इसको 21 जून के रूप में विश

कोरोना से बचाव

Image
   फिर कोरोना से कैसे बचे जो लोग यह मान चुके हैं कि कोरोना एक बुरा सपना था और अब यह सपना खत्‍म हो चुका है, ऐसे लोगों के लिए बुरी खबर है। एक ओर, डॉ. माइकल रयान, विश्व स्वास्थ्य संगठन के आपात कार्यक्रमों के निदेशक (executive director of the World Health Organization's Health Emergencies Programme), कह रहे हैं: ''जो लोग भी ऐसा सोच रहे हैं कि कोरोना वायरस अब लगभग खत्म हो गया है या फिर कुछ ही महीनों में दुनिया को इससे छुटकारा मिल जाएगा, उन्हें मैं सावधान करना चाहता हूँ कि आप भ्रम में जी रहे हैं और समय से पहले किसी भी चीज के होने के बारे में अत्‍यंत आशावादी सोच रख रहे हैं। हालांकि हम कोरोना वायरस वैक्सीन की वजह से कोविड-19 की कड़ी को तोड़ सकते हैं और इससे होने वाली मौतों पर भी नियंत्रण लगाया जा सकता है।'' भविष्‍य के गर्भ में क्‍या छिपा है, ईश्‍वर ही जाने, परंतु कोरोना महामारी के डर से माता-पिता अपने बच्‍चों की गतिविधियों को सीमित कर रहे हैं, विद्यालय बंद पड़े हैं, भले ही घर हो, पड़ोस हो, अथवा अन्‍य कोई भी स्‍थान — शारीरिक दूरी बनाए रखने के लिए उन्‍हें चारों ओर बाध्‍य किया

Best आवास योजनायेNOIDA

Image
  अच्छा घर नोएडा में  10 क्षेत्र मे मिल सकता है  सेक्टर 62  सेक्टर 150  सेक्टर 121  सेक्टर 74, सेक्टर 75, सेक्टर 78  सेक्टर 137  सेक्टर 44, सेक्टर 45  सेक्टर 50   घरों को खरीदने के लिए NCR के सबसे अचछा क्षेत्रों में से एक है नोएडा नोएडा वर्तमान में तेजी से अचल संपत्ति विकास देख रहा है, अंत उपयोगकर्ताओं और निवेशकों के लिए अवसर प्रदान करता है।  मेट्रो कनेक्टिविटी से लेकर सामाजिक और भौतिक बुनियादी ढाँचे तक, नोएडा वर्तमान में घर खरीदारों के लिए सबसे पसंदीदा स्थलों में से एक है जो एक हरियाली पड़ोस में स्थानांतरित करने के लिए देख रहे है सेक्टर 62 इलेक्ट्रॉनिक सिटी के रूप में भी जाना जाता है, सेक्टर 62 में कई वाणिज्यिक और आवासीय विकास हैं, जो इसे एक शहर के भीतर एक सही उप-शहर बनाते हैं।  इस क्षेत्र से गाजियाबाद के इंदिरापुरम, एक और आवासीय पड़ोस के साथ-साथ नोएडा के लोकप्रिय केंद्रों जैसे कि सेक्टर 18, 32, 37 में कनेक्टिविटी है। सेक्टर 62 की लोकप्रियता के पीछे एक प्रमुख भूमिका निभाई है जो क्षेत्र से सेक्टर 62 तक एलिवेटेड रोड का उद्घाटन है।  यह DND फ्लाईवे और नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे से जुड

बच्चो मे Behavior समस्या

Image
  बच्चो का वयवहार बच्चे नटखट और प्यारे होते हैं और अपने बाल अवस्था में समय-समय पर आवेगी, वीभत्स और उद्दंड हो सकते हैं, और शरारती बच्चे की तरह होना बच्चों और उनके माता-पिता के लिए बिल्कुल सामान्य है।  हालांकि, कुछ बच्चों के लिए उनकी उम्र से कम के बच्चे बेहद कठिन और चुनौतीपूर्ण व्यवहार करते हैं।  इन व्यवहार संबंधी विकारों के साथ बच्चे बड़े होने पर व्यक्तित्व विकार, ऑस्टिन, अवसाद या द्विध्रुवी विकार विकसित कर सकते हैं।  बच्चों में सबसे आम व्यवहार संबंधी व्यवधान विकार हैं: अटेंशन डेफिसिट हाइपरएक्टिविटी बिहेवियर डिसऑर्डर (ADHD), ओपोजिशनल डिफेंस बिहेवियर डिसऑर्डर और कंडक्ट बिहेवियर डिसऑर्डर ।। विपक्षी चूक (OD) व्यवहार विकार ऐसा माना जाता है कि 12 वर्ष से कम उम्र के दस बच्चों में से लगभग एक में एक विरोधी विकार है, जहां लड़के दो से एक% अधिक हैं, फिर लड़कियां हैं। ODD बच्चों के विशिष्ट व्यवहार संकेत: बस गुस्सा, परेशान या चिड़चिड़ा। वयस्कों के साथ लगातार तर्क, विशेष रूप से उनके जीवन में अधिक प्रसिद्ध वयस्क, जैसे कि बी पेरेंट्स। नियमों का पालन करने से इनकार करना या दूसरों के लिए चीजों को कठिन बना

BEHAVIOURAL DISORDERS IN CHILDREN

Image
  Children's are naughty and loving and can be impulsive, vicious and defiant from time to time in their child phase, and being like a naughty child is perfectly normal for children’s and for their parents. However, For some children under their age they have extremely difficult and challenging behaviors . Children’s with these behavioral disorders can develop personality disorders, Austin , depression , or bipolar disorder as they grow up. The most common behavioral disruptions disorder in children’s are: Attention Deficit Hyperactivity Behavior Disorder (ADHD), Oppositional Defiant Behavior Disorder and   Conduct Behavior Disorder. . Oppositional Defiant(OD) Behavior Disorder It is believed that approximately one in ten children under the age of 12 has an oppositional defiant disorder , where boys are two to one more % then girls. ODD Children’s Typical Behavior signs: Just angry, upset, or irritable. Frequent arguments with adults, especially the more well-known adults in their

Child CARE

Image
CHILDCARE Our Turn: Child care is vital to rebuilding the state’s economy Working parents are drowning immediately . The second wave of the pandemic came in sort of a tsunami after many months of juggling work and child care under unprecedented and stressful circumstances. Almost a year into this crisis, parents are still anxious about the way to keep their children cared for and safe, the way to continue meeting work obligations, and in many cases balance remote learning, too. We all know that the last year has also laid bare deep inequities within the New Hampshire we already knew existed – including unequal access to quality, affordable, and safe child care. Early2 care and education schemes including child care offer a supportive environment for healthy child development and prepare children for fulfillment in class and in life – also as allow parents to stay within the workforce. High-quality child care remains an outsized financial burden for several working families looking to s

कोरोना से मुकाबला

Image
   फिर कोरोना से कैसे बचे जो लोग यह मान चुके हैं कि कोरोना एक बुरा सपना था और अब यह सपना खत्‍म हो चुका है, ऐसे लोगों के लिए बुरी खबर है। एक ओर, डॉ. माइकल रयान, विश्व स्वास्थ्य संगठन के आपात कार्यक्रमों के निदेशक (executive director of the World Health Organization's Health Emergencies Programme), कह रहे हैं: ''जो लोग भी ऐसा सोच रहे हैं कि कोरोना वायरस अब लगभग खत्म हो गया है या फिर कुछ ही महीनों में दुनिया को इससे छुटकारा मिल जाएगा, उन्हें मैं सावधान करना चाहता हूँ कि आप भ्रम में जी रहे हैं और समय से पहले किसी भी चीज के होने के बारे में अत्‍यंत आशावादी सोच रख रहे हैं। हालांकि हम कोरोना वायरस वैक्सीन की वजह से कोविड-19 की कड़ी को तोड़ सकते हैं और इससे होने वाली मौतों पर भी नियंत्रण लगाया जा सकता है।'' भविष्‍य के गर्भ में क्‍या छिपा है, ईश्‍वर ही जाने, परंतु कोरोना महामारी के डर से माता-पिता अपने बच्‍चों की गतिविधियों को सीमित कर रहे हैं, विद्यालय बंद पड़े हैं, भले ही घर हो, पड़ोस हो, अथवा अन्‍य कोई भी स्‍थान — शारीरिक दूरी बनाए रखने के लिए उन्‍हें चारों ओर बाध्‍य किया