Posts

Showing posts with the label Education

प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना क्या हैं और इसका फायदा क्या है।

Image
PM Poshan Shakti Nirman Yojana प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना क्या हैं आज इसके बारे में हम बात करने वाले है। प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना देश के प्रधान मंत्री मोदी जी द्वारा इस योजना की शुरुवात की गयी है।  इस योजना के तहत जो गरीब बच्चे है उन्हें नियमित रूप से स्कूल जाने के लिए और स्कूल में पढ़ाई करने का मौका दिया जा रह है।  इस योजना के तहत बच्चो को बहुत कुछ दिया जायेगा जिसके बारे में हम आपको सबसे पहले बताने वाले है।   प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना के तहत 1 कक्षा से छोटे बच्चे और और स्कूल में पड़ने वाले 1 से 8 साल के बच्चे को गर्म पका हुआ पौष्टिक खाना उपलब्ध करवाया जायेगा।  आपको बताना चाहते है की योजना देश के किसी एक राज्य के लोगो के लिए नहीं है बल्कि देश के हर एक राज्य के बच्चो के लिए इस योजना की शुरुवात की गयी है।  बताना चाहते है की हमारे देश में जितने भी सरकारी स्कूल है वहाके बच्चो को 5 साल तक पौष्टिक भोजन की सेवा दी जाएगी। हमारे देश में जितने भी सरकारी स्कूल है वहा के बच्चोंको दोपहर के समय योजना के तहत पौष्टिक भोजन की सेवा प्रदान की जाएगी।  पीएम पोषण शक्ति निर्

प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि योजना क्या है और इसकी मदद से जेनेरिक दवा सस्ते दाम पर कैसे पा सकते है

Image
प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि योजना प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि योजना के बारे में आज हम बात कर रहे है। प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि योजना एक ऐसी योजना है जिसके तहत जनता को सस्ते और किफायती दामों पर गुणवत्तापूर्ण दवाये देने के लिए पीएम मोदी द्वारा इस योजना की शुरुवात की गयी है। प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि योजना के तहत 50 से 90 प्रतिशत पर आप सभी जरुरत मंदो को दवाये दी जाएगी।  इस योजना का मुख्य उदेश्य यही है की किफायती दामों पर दवा उपलब्ध करवाई जाये।   ऐसे दाम पर दवा उपलब्ध करवाई जाएगी जिसे आप काफी सस्ते दाम पर खरीद सकते है।  योजना के तहत पुरे देश में जगह जगह पर इस प्रकार के मेडिकल स्टोर खोले जायेंगे।  बताना चाहते हैं की इस योजना की घोषणा 2015 में की गयी थी। इस योजना को शुरुवात करने का एक मात्र उदेश्य यही है की एक आम तक जेनेरिक दवा को बाजार से भी सस्ते दाम पर आम आदमी तक पहुंचाया जाये। इस योजना के लिए जगह जगह पर सरकार द्वारा ‘जन औषधि स्टोर बनाये गए है।   आपको बताना चाहते है की हर साल भारत में 7 मार्च को जान औषिधि दिवस मनाया जाता है। हमारे देश की सरकार आम आदमी को उचित दामपर दवा प्रदान करवाने क

Online और Offline में क्या फर्क होता है उदाहरण के माध्यम से समझे

Image
Online and Offline ऑफलाइन और ऑनलाइन में क्या अंतर होता है आज हम आपको बताने वाले है। ऑफलाइन और ऑनलाइन एक दूसरे से बिलकुल अलग होते है और इसमें जमीन आसमान का फर्क होता है। ऑफलाइन और ऑनलाइन को एक नहीं बल्कि कई तरीको से समझा जा सकता है। आज हम आपको 3 मुख्य उदहारण के माध्यम से समझने वाले है की आखिरकार ऑफलाइन और ऑनलाइन में क्या फर्क होता है। इंटरनेट ऑफिस और पढ़ाई के माध्यम से आपको बताने वाले है की आखिरकार दोनों में क्या फर्क होता है।  जब हम तकीनीकी सहायता की मदद से एक जगह से दूसरी जगह पर जुड़ते है तो इस प्रक्रिया को ऑनलाइन प्रक्रिया कहा जाता है।  जब हम किसी कार्य को बिना कनेक्शन के करते है तो इस प्रक्रिया को ऑफलाइन कहा जाता है। यदि कोई डिवाइस कही से भी कनेक्ट नहीं है और हम फिर भी अपना कार्य करते है तो इस प्रक्रिया को ऑफलाइन कहते है। हम आपको पहले ही बता चुके है की ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों एक दूसरे से बिलकुल अलग होते है। चलिए जानने का समय आ गया है की आखिरकार ऑफलाइन और ऑनलाइन में क्या विशेष फर्क होता है।  हमारे जीवन में काफी सारे कार्य ऐसे होते है जोकि सिर्फ ऑनलाइन ही किये जा सकते है।   1. जैसे हम अप

गांव और शहर में माता पिता द्वारा बच्चों को कैसे पाला जाता है

Image
नमस्कार दोस्तों आज की जानकारी में आप सभी को बताने वाले हैं कि गांव के और शहर के माता पिता अपने बच्चों के प्रति किस प्रकार ध्यान रखते हैं। सबसे पहले हम शहर के बच्चों के बारे में बात कर लेते हैं तो उनके माता-पिता काफी ज्याद जिम्मेदार होते हैं। शहर के माता पिता बच्चों के प्रति कैसे जिम्मेदार होते हैं सबसे पहले इसके बारे में जान लेते हैं। जैसे ही स्कूल से बच्चा घर आता है तो सबसे पहले उसके मां-बाप बोलते हैं कि कपड़े बदल लो। इसके बाद बच्चे को खाना दिया जाता है और फिर उनसे पूछा जाता है कि आज स्कूल में आपको क्या क्या पढ़ाया गया है। इसके बाद बच्चे से सभी सवाल जवाब पूछे जाते हैं कि आखिरकार स्कूल में क्या क्या सिखाया जाता है और स्कूल से जो भी होमवर्क मिला होता है उसके बाद बच्चे को होमवर्क कराया जाता है। शहर के जो माता-पिता है उनकी बच्चों के प्रति  कुछ इस प्रकार जिम्मेदारी होती है। अगर हम गांव के बच्चों की बात करे तो गांव में ऐसे बहुत ही कम बच्चे देखने को मिलते हैं जो कि सरकारी नौकरी करते हैं। अगर हम शहर के बारे में बात करे तो शहर के एक ही घर में दो दो तीन तीन बच्चे ऐसे मिल जाएंगे जो कि सरकारी नौक

ग्रामीण और शहरी इलाकों में क्या फर्क देखने को मिलता है

Image
  नमस्कार दोस्तों आज हम आपको बताने वाले है की आखिरकार शहर और ग्रामीण इलाके में क्या फर्क होता है। शहर और ग्रामीण इलाको में आज भी जमीन आसमान का अंतर है।  शहर के बारे में बात करे तो आज भी इंसान सीमेंट की इमारतों और टेक्नोलॉजी की दुनिया से इतना ज्यादा जुड़ा हुआ है की लगातार इसका असर इंसान के सेहत पर देखने को मिल रहा है। जितनी भी महामारी के बारे में आज हम सुन रहे है वे सब कही न कही इंसान की गलती की वजह से ही हो रहा है।  वही अगर हम गांव  के इलाके के बारे में बात करे तो आज भी गांव के इलाके में हम देख सकते है की छोटी चोट हो या फिर कोई महामारी इंसान इस गंभीर समय से बड़े जल्दी उभर जाता है। इसकी एक वजह यही है की आज भी गांव का इंसान मोबाइल फोन और लैपटॉप से दूर रहकर गांव और खेती में ज्यादा ध्यान देता है। इसीलिए आज भी गांव का एक आम आदमी 70 से 80 के उम्र भी स्वस्थ नजर आता है। आज हम आपको बताने वाले है की आखिरकार गांव और शहर की लाइफ में क्या अंतर होता है।   शहर की जिंदगी के बारे में अगर हम बात करे तो शहर की जिंदगी जटल और तेज होती है वही गांव की जिंदगी काफी ज्यादा सरल और आराम से होती है। शहर की जनगरना के

Motivational Story: रतन टाटा की मोटिवेशनल कहानी। कुछ इस प्रकार शुरू करि सफलता की शुरुवात

Image
  नमस्कार दोस्तों रतन टाटा आज के ज़माने में एक ऐसा नाम बन चुका है जिनके बारे में आज हर कोई जानता है और हर कोई आज की तारीख में रतन टाटा की तरह बनना चाहता है। लेकिन आज हम बात करने वाले है रतन टाटा के महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में की किस तरह रतन टाटा ने अपने जीवन में सफलता हासिल की है और किस प्रकार आज की युवा पीढ़ी के लिए एक अच्छी मसाल बन चुके है। अगर आप भी रतन टाटा के सफलता का राज जानना चाहते है तो हमारे साथ आखिरी तक जुड़े रहिये ।    सबसे पहले रतन टाटा के निजी जीवन के बारे में बात करे तो रतन टाटा क जन्म 28 सितंबर 1937 को हुआ था। रतन टाटा के पिता का नाम नवल टाटा है।  रतन टाटा के स्कूलिंग की बात करे तो इन्होने अपनी शिक्षा की प्राप्ति मुंबई से की थी। इसके अलावा रतन टाटा ने हॉवर्ड बिज़नेस स्कूल से एडवांस मैनेजमेंट की तैयारी की थी। 1962 में इन्होने सबसे पहले टाटा समूह के साथ जुड़कर अपने करियर की शुरुवात की थी। 1991 में रतन टाटा जेआरडी टाटा के बाद समूह के पांचवे अध्यक्ष बने थे।  रतन टाटा के उपलब्धि के बारे में बात करे तो सबसे पहले 2000 में इन्हे पदमभूषण और फिर 2008 में इन्हे पदमविभूषण से सम्मानित

उत्तर प्रदेश भाग्य लक्ष्मी योजना के तहत बेटियों को मिलेगा लाभ। इस प्रकार करे आवेदन

Image
                                                            उत्तर प्रदेश भाग्य लक्ष्मी योजना 2022 क्या है आज इसके बारे में आप सभी को बताने वाले हैं। इस योजना के तहत राज्य सरकार द्वारा गरीब परिवार की लड़कियों को आर्थिक रूप से लाभान्वित करने के लिए उत्तर प्रदेश भाग्य लक्ष्मी योजना की शुरुआत की गई है। इस योजना के तहत उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा बेटियों के पैदा होने पर उन्हें ₹50000 की सहायता प्रदान करेगी।  इसके अलावा बेटी के मां को ₹5100 की राशि दी जाएगी। कन्या भ्रूण हत्या इस प्रकार के अपराध को रोकने के लिए उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना की शुरुआत की गई है। लेकिन अगर आप इस योजना का फायदा उठाना चाहते हैं आपका बैंक में अकाउंट होना जरूरी है। क्योंकि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा यह राशि सीधे आपके बैंक अकाउंट में डाल दी जाएगी। जब आपकी बेटी 6 वी कक्षा में प्रवेश करेगी तो माता-पिता को ₹3000 दिए जाएंगे। जब आपकी बेटी आठवीं कक्षा में प्रवेश करेगी तब माता-पिता को ₹5000 दिए जाएंगे। जब आपकी बेटी दसवीं कक्षा में प्रवेश करेगी तब ₹7000 दिए जाएंगे। इसके अलावा 12वीं कक्षा में प्रवेश करने पर ₹8000 दिए जाएंगे। ज

World Hepatitis Day News: आखिरकार क्या है हेपिटाइटिस और इससे बचने के लिए क्या किया जाए

Image
                                                  आज पूरी दुनिया में 28 जुलाई को वर्ल्ड हेपिटाइटिस डे मनाया जा रहा है। लेकिन क्या आप सभी लोग जानते हैं कि आखिरकार वर्ल्ड हेपिटाइटिस डे क्यों मनाया जाता है और इसके पीछे का उद्देश्य क्या होता है। आज हम आपको सबसे पहले बताने वाले है। लोगों के बीच में हेपेटाइटिस को लेकर जागरूकता बढ़ाने के लिए हर साल वर्ल्ड हेपिटाइटिस डे मनाया जाता है। हेपिटाइटिस लीवर की जुड़ी खतरनाक बीमारियों में से एक माना जाता है। बीमारी के चलते हुए अक्सर लीवर के टिशू में इंफ्लमेशन होने लगता है। सही समय पर इलाज ना होने की वजह से यह कैंसर में भी बदल सकता है। ऐसे में आज हम आपको बताने वाले है कि आखिरकार यह बीमारी क्या है और इसके लक्षण क्या है और इससे बचाव कैसे किया जाए। हेपिटाइटिस ऐसी बीमारी है जोकि किसी भी उम्र में किसी भी व्यक्ति को हो सकती हैं। यह बीमारी से सबसे ज्यादा असर इंसान के लिवर पर पड़ता है। हेपिटाइटिस मुख्य रूप से लीवर की सूजन होती हैं और लिवर कोशिकाओं को नुकसान पहुंचा सकती है। इस वायरस में मुख्य रूप से पांच वैरिएंट Hepatitis A,B,C,D,E देखने को मिलते हैं। A और E वेरि

Dr. A. P. J. Abdul Kalam Death Anniversary: भारत के 11वें राष्ट्रपति बनने के बाद भी डॉक्टर कलाम के स्वभाव ने हर किसी का दिल जीत लिया था।

Image
                                                  Image Credit : @apjapdulkalam  नमस्कार दोस्तों आज हम बात कर रहे है डॉक्टर APJ अब्दुल कलाम के डेथ एनिवर्सरी के बारे में।  आज पूरे देश भर में डॉक्टर APJ अब्दुल कलाम की 7वी डेथ ऐनिवर्सरी मनाई जा रही है।  APJ अब्दुल कलाम का जन्म 15 अक्टूबर 1931 को तमिलनाडु के रामेश्वर में हुआ था। हमारे देश में डॉ एपीजे अब्दुल कलाम भारत मिसाइल मैन के नाम से भी प्रसिद्ध हैं। 2002 से 2007 की अवधि में डॉ एपीजे अब्दुल कलाम भी भारत के 11वें राष्ट्रपति बने। आज भी एपीजे अब्दुल कलाम युवाओं के लिए एक प्रेरक की तरह काम करते हैं। डॉ एपीजे अब्दुल कलाम हमेशा यही कहते हैं जीवन में कुछ भी हासिल करने के लिए हमेशा अपने सपनों का याद रखना चाहिए। इसके साथ साथ अपने सपनों को हमेशा हासिल करने की कोशिश करनी चाहिए। डॉ एपीजे अब्दुल कलाम के हिसाब से हमेशा सपने वही देखते हैं जोकि उसे हासिल करना चाहते हैं। कई बार लोगों को अपने सपने देखने के हिसाब से कई गुना ज्यादा ही प्राप्त हो जाता है। डॉ एपीजे अब्दुल कलाम ने भी न केवल अपने लिए सपने देखे हैं बल्कि देश के लिए भी सपने देखे हैं और युवा पी

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से होते है अनेक फायदे। फसल ख़राब होने पर मिलता है अधिकतम भुगतान

Image
                                                      Image Credit: NIKS ADS/Shutterstock देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी आये दिन देश के नागरिक के साथ-साथ अन्य किसानो के लिए और एक आम आदमी के लिए कोई न कोई नयी योजना लेकर आते रहते है। ठीक इसी प्रकार की एक और नयी योजना के बारे में आज हम सबसे पहले बात करने वाले है। अगर आप जानना चाहते है तो हमारी जानकारी को अंत तक जरूर देखे और पसंद आने पर शेयर करे। हम बात कर रहे है प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के बारे में। आज की तारीख में इस योजना के तहत काफी सारे किसान इस योजना का लाभ उठा रहे है।  6 सालो से आपकी फसल के साथ-साथ आपकी खुशियों का भी ध्यान रखा जा रहा है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से आखिरकार क्या-क्या लाभ हो सकते है चलिए सबसे पहले इसके बारे में हम जल्दी से बात कर लेते है। योजना के तहत दावों का भुगतान सीधे तौर पर किसान के बैंक के खाते में किया जाता है।  इसके अलावा आधुनिक तरीके से उपज का बेहतर तरीके से अनुमान लगाया जा सकता है। बीते 6 सालो में योजना के तहत किस को क्या क्या लाभ हुए इसके बारे में अब हम बात करने वाले है।   एक रिपोर्ट के मुताबिक

आईफोन से एंड्राइड या एंड्राइड से आईफोन में ऐसे शेयर कर सकते है जरुरी चैट और अन्य जरुरी दस्तावेज

Image
                                 Image Credit:  Dacian Galea/Shutterstock व्हाट्सएप अपने यूजर के लिए आये दिन कोई न कोई नया फीचर लेकर आता रहता है और आज हम व्हाट्सएप के एक और नए फीचर के बारे में बात करने वाले है। आज के ज़माने में व्हाट्सएप हर किसी के फ़ोन में देखने को मिलता है। व्हाट्सएप के माध्यम से आज हम फोटो वीडियो टेक्स्ट पीडीऍफ़ फाइल और यहाँ तक की जरुरी दस्तावेज भी बड़े आसानी से शेयर कर सकते है। लेकिन आज हम व्हाट्सएप यूजर को एक नए फीचर के बारे में बताने वाले है। नए अपडेट के माध्यम से यूजर आईफोन से एंड्राइड या फिर एंड्रॉइड से आईफोन में आसानी से चैट ट्रांसफर कर सकता है।    इस जानकरी के बारे में खुद ट्विटर के माध्यम से पोस्ट को शेयर किया गया है। ट्विटर पर व्हाट्सएप ने लिखा है की अब आप पूरी की पूरी चैट हिस्ट्री एंड्राइड से आईफोन या फिर आईफोन से एंड्राइड में बड़े ही आसानी से ट्रांसफर कर सकते है। इसकी मदद से आप बिना चिंता के अपने डिवाइस को बड़े ही आसानी से बदल सकते है। इस नए अपडेट में आप कॉल हिस्ट्री और या फिर डिस्प्ले नाम को ट्रांसफर नहीं कर सकते है। इसके अलावा आप यूजर अकाउंट की हिस्ट्री प्रोफ

जानिए किस प्रकार सभी उम्मीदवार डाउनलोड कर पाएंगे नीट 2022 आंसर की, क्वेश्चन पेपर और ओएमआर शीट

Image
                                           Image Credit: WESTOCK PRODUCTIONS/ Shutterstock  नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने 17 जुलाई को NEET UG का आयोजन किया था। नीट 2022 की आंसर की, ओएमआर रिस्पांस शीट, और क्वेश्चन पेपर ऑफिशल वेबसाइट neet.nta.nic.in पर जारी किए जाएंगे। उम्मीदवार वेबसाइट पर जाकर बड़े ही आसानी से तीनों चीजें डाउनलोड कर सकते हैं। आंसर की जारी होने के बाद उम्मीदवार इस पर आपत्ति दर्ज करवा सकते हैं। अगर कोई आपत्ति सही पाई जाती हैं उसके बाद ही आंसर की में सुधार करने के बाद फाइनल आंसर की जारी की जाएगी। इसी के आधार पर उम्मीदवारों का रिजल्ट तैयार किया जाएगा। नीट का रिजल्ट स्कोरकार्ड के रूप में जारी किया जाएगा। यहां पर रिजल्ट में छात्रों का विषयवार अंक और परसेंटाइल मेंशन किया जाएगा। एनटीए अलग-अलग प्रकार की कैटेगरी के लिए कट ऑफ स्कोर और ऑल इंडिया टॉपर की घोषणा करेगा। सबसे बड़ा सवाल यह है कि आखिरकार NEET 2022 की आंसर की, क्वेशन पेपर और ओएमआर शीट कैसे डाउनलोड कर सकते हैं। यहां पर उम्मीदवार नीचे दिए गए स्टेप के माध्यम से आसानी से आंसर की, ओएमआर शीट और क्वेश्चन पेपर को बड़े ही आसानी से डाउनलो

रक्षाबंधन का त्यौहार - तिथि, विधि, मुहूर्त एवं इतिहास।

Image
  रक्षाबंधन का त्यौहार भाई - बहन के लिए एक महत्वपूर्ण त्योहार के रूप में जाना जाता है। यह त्यौहार भाई - बहन के रिश्ते में मजबूती लाता है एवं प्यार और मिठास का संचार करता है। रक्षाबंधन का त्यौहार भाई - बहन के बीच के रिश्ते को और अधिक मजबूत बनाता है। यह हिंदुओं के लोकप्रिय त्योहारों में से एक है। आज के Rakshabandhan 2022 के इस आर्टिकल में हम रक्षाबंधन पर निबंध ( Rakshabandhan par nibandh) बताने वाले हैं , जिसके अंतर्गत रक्षाबंधन से जुड़े सभी जानकारी से आप अवगत हो सकेंगे। Rakshabandhan kyu manaya jata hai के बारे में यदि आप नहीं जानते हैं तो निश्चिंत हो जाइए क्योंकि Rakshabandhan kaise manae, Rakshabandhan 2022 kab hai, Rakshabandhan quotes, Rakshabandhan ka itihaas kya hai आदि की जानकारी आपको इस आर्टिकल में मिल जाएगी।   रक्षाबंधन कब मनाया जाता है ? रक्षाबंधन का त्यौहार प्रत्येक वर्ष सावन के महीने में पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है। यह हिंदू पंचांग के अनुसार रक्षाबंधन का शुभ मुहूर्त होता है। वहीं अंग्रेजी कैलेंडर के मुताबिक अगस्त के महीने में रक्षाबंधन का त्यौहार मनाते हैं। Raksha

WHAT IS ARTIFICAL INTELLIGENCE AND HOW IT WORKS

Image
  Artificial Intelligence Intelligence is what elevates humanity to the highest level on the earth. It has had the most significant impact on our ability to improve our talents and the development of human civilization. Today, if humans have made so much development in the field of technology, then our human brain is the biggest hand. Human beings have made many inventions on the strength of this intelligence and it is needless to say that every invention has given a new direction to the life of human beings. When computers were made, no one even thought that we would be able to use something like a smartphone in the future. But technology is now not only a part of our lives, but it also assists us much in our work.. In the last few years, to take the technology to a different level, some computer science scientists have put the AI ​​concept in front of the world.  Its original purpose is to create such computer controlled robots or software that can solve a problem by thinking like hu